शुक्रवार, 5 जून 2009

ट्रॉय के बारे में

ऐखिलीस बेशक महान था, वो एक बेहतरीन कातिल था, वो पैदाइशी मौत का फ़रिश्ता था, यूनान का कोई भी राजा उसका राजा नही था, ऐसा उसका मानना था । उसने ट्रॉय की प्रिंसेस को कहा था की ," देवता हमसे जलते हैं उनके लिए चीजों की कोई अहमियत नही है जबकि हर चीज हमारे लिए खूबसूरत है क्यो की हमें मरना है , इस पल तुम जितनी खूबसूरत लग रही हो, ये पल लौट के फ़िर कभी नही आएगा, आज के बाद हम यहाँ फ़िर कभी नही होंगे " उसकी तलवार ने कई सिरों को उनके धड से अलग किया , उसने देवदासियों को भी नही बख्शा , पुजारियों को मौत के घाट उतारा यहाँ तक की अपोलो की मूर्ति पर भी कई प्रहार किए।
मगर जब बात हैक्टर की आती है ऐखिलीस के उलट उसका चरित्र मानवतावादी रूप में करीने से प्रतिबिंबित होता है। वो एक जिम्मेदार युवराज होने के साथ साथ एक जिम्मेदार बेटा, एक जिम्मेदार पति, एक जिम्मेदार पिता और एक जिम्मेदार भाई भी था। उसका होना ही ट्रॉय की सलामती थी। अन्धविश्वशियों के देश में वो मौलिक तरीके से सोचता था। ऐखिलिस के हाथों उसकी मौत ट्रॉय की बर्बादी की शुरुआत भी थी और अंत भी।
हैक्टर ने हमेशा ही मेरी नजरों में एक नायक की छाप छोड़ी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें